Piles Fistula Fissure WeClinic Homeopathy

Welcome to WeClinic™ Homeopathy

वी क्लीनिक होम्योपैथी ISO 9001 : 2015 द्वारा प्रमाणित संस्थान है

पाइल्स फिस्टुला फिशर के सम्पूर्ण एवं भरोसेमंद उपचार के लिए वी क्लीनिक होम्योपैथी सर्वोच्च एवं ISO 9001 : 2015 द्वारा प्रमाणित संस्थान है। हमारी कानपुर (उत्तर प्रदेश) शहर में 2 शाखाएं हैं एवं ऑनलाइन परामर्श की सुविधा भी उपलब्ध है। हमारे द्वारा अभी तक पाइल्स फिस्टुला फिशर के 5,000 से अधिक मरीजों का सफल इलाज किया जा चुका है ।

पूरी तरह से उपचार मात्र 999* रुपए में

*आपके लक्षण के आधार पर उपचार 20 दिनों से 3 माह तक चलेगा, एक बार हमारे डॉक्टर से सलाह जरूर लें

  • खूनी एवं बादी बवासीर का इलाज
  • मात्र 99 रुपए परामर्श शुल्क
  • 899 रुपए - 20 दिनों की दवा
  • दवाओं की फ्री होम डिलीवरी (पूरे भारत में )
  • फ्री डाइट चार्ट
  • समय समय पर फोन कॉल के द्वारा फ़ॉलोअप
  • Cash on Delivery Available

मात्र   ₹99 भुगतान कर अपना दवा बुक करें |
बचे हुए 900 रुपए दवा घर मिलने पर दें |

अधिक जानकारी के लिए कॉल करें   +91 7905136461

Piles Fistula Fissure WeClinic Homeopathy

Welcome to WeClinic™ Homeopathy

पाइल्स क्या हैं ?

पाइल्स – जिसे बवासीर भी कहा जाता है, गुदा के टर्मिनल हिस्से में सूजन वाली नसें हैं।

  • 50 वर्ष की आयु तक 75% जनसंख्या को प्रभावित करता है
  • गर्भावस्था में सामान्य रूप से देखा जाता है
  • आंतरिक या बाहरी हो सकता है
  • इसके लक्षण – मल त्याग के बाद खून आना या या मल के साथ खून आना
  • कभी-कभी रक्त गुदा के आस-पास क्लॉट कर जाता है जिससे बाहरी बवासीर होता है
  • ज्यादातर यह लक्षण प्रकट होने से पहले ही अपने आप ठीक हो जाता है
  • पुरानी कब्ज, कठिन मल त्याग के कारण

फिशर क्या है ?

फिशर – यह गुदा के चारों ओर एक कट या दरार है जो बहुत दर्दनाक होता है।

  • कई बार जब आप शौच करने के लिए बहुत अधिक दबाव डालता हैं
  • संक्रमित होने पर रक्त या मवाद आ सकता है
  • कब्ज, दस्त, या भारी व्यायाम करने के कारण हो सकता है
  • ज्यादातर 50 से ऊपर आयु समूहों को प्रभावित करता है
  • तीव्र और क्रॉनिक दो रूपों में बाट सकते हैं
  • फाइबर युक्त आहार और दवा से तीव्र फिशर को आसानी से ठीक किया जा सकता है
  • क्रॉनिक को प्रबंधित करना मुश्किल है और पुनः हो सकता है

फिस्टुला क्या है ?

फिस्टुला – गुदा के मध्य भाग में गुदा ग्रंथियां होती हैं, जिनमें संक्रमण हो जाती हैं जिससे और गुदा पे फोड़ा हो जाता है, जिससे मवाद निकलने लगता है। फिस्टुला संक्रमित ग्रंथि को फोड़ा से जोड़ने वाला मार्ग है।

  • यह रेडिएशन, कैंसर, वार्ट्स, ट्रामा, क्रोहन रोग आदि के कारण हो सकता है
  • यह मोटापे और लंबे समय तक बैठने से भी जुड़ा हो सकता है
  • मुहाने से मवाद आना, सूजन, दर्दनाक और लाल के रूप पहचाना जा सकता है
  • एंटीबायोटिक दवाओं के साथ इलाज किया जा सकता है

हमारे विशेषज्ञ डॉक्टर्स

Dr. Deeksha Katiyar

BHMS, PG(London)

Dr. Tapasya Nigam

BHMS, PG(London)

Dr. Iqbal Quasim

BHMS

Dr. Dheeraj Sharma

BHMS

Dr. Rajesh Yadav

BHMS

About US

Our Testimonials

For Any Emergency Contact

Everyday 9 AM to 9 PM

Make an Online Appointment

Make an appointment here and skip the long waiting Queue